10258205_1029843573762178_7464802030065848918_o.jpg

2

आशिक़ी

हमे मालूम है आशिक़ी क्या होती, दिल जानता है उस नशा को,
पर ज़माने को आशिक़ी का मतलब ना शिखा पाए।
जब कदम बढ़ाया एहसास दिलाने को आशिक़ी का,
ज़माने ने बेवफाई का आईना दिखा दिया।।

हमे मालूम है आशिक़ी क्या होती.....

March 23, 2021, 5:09:13 PM

© drateendrajha.com

logo-new-png.png

Shayari

Read
23