10258205_1029843573762178_7464802030065848918_o.jpg

28

खुशी....

आपकी भरी आँखों को देख ,
हमारी आंखे बेसुध हो गई ।
हसीन हुई मन की वादियाँ ,
जब हमने होंठों की मुस्कुराहट को देखा ।।

एक कल्पसृष्टि की कल्पना मे ....

April 15, 2022, 1:06:32 PM

© drateendrajha.com

logo-new-png.png

Shayari

Read
48